सच्ची आजादी पा लो
Next Article तिरंगा-झंडा
Previous Article हे भारत के विद्यार्थियो !...

सच्ची आजादी पा लो

पूज्य बापूजी : ‘‘आज १५ अगस्त के दिन देश आजाद हुआ था तो आज सैर-सपाटे, ‘हा-हा, ही-ही' में ही खुशियाँ मनाकर अपने को धोखे में नहीं डालना है । इस आजादी के पीछे देशभक्तों ने कितनी कुर्बानियाँ दी हैं । हम भगवान को धन्यवाद दें और प्रार्थना करें कि ‘हम कदम-से-कदम मिलाकर चलें, विचार-से-विचार मिलाकर रहें और अपनी आत्मशक्ति को, श्रद्धाशक्ति को, कर्मशक्ति को विकसित करें ।' तब तो यह आजादी बरकरार रहेगी, बाकी आजादी के उत्सव मना लिये और फूट डालनेवाले लोग हमें फिर से आपसी फूट का शिकार बनाकर हमारी आजादी छीन लें, यह ठीक नहीं। इस बात की सावधानी रखनी चाहिए । आज का दिन प्रार्थना का है, सावधानी का है, संयम और सदाचार, साहस और सद्विचार तथा सामर्थ्य बढाने का संकल्प करने का है । ...तो स्वतंत्रता दिवस पर यही संदेश है कि ‘आप आजादी की खुशियाँ मनाना चाहो तो भले मना लेना, परंतु खुशियाँ मनाने के साथ वे शाश्वत रहें ऐसी नजर रखना । देश को तोडनेवाले तत्त्वों और अपने को गिरानेवाले विकारों से बचना । ईश्वर-स्मरण व साधन-भजन इन्हींकी ओर लगना ।''
संकल्प : १५ अगस्त के दिन हम प्रार्थना करेंगे, सावधानी रखेंगे, संयम और सदाचार, साहस और सद्विचार तथा सामर्थ्य बढाने का दृढ संकल्प करेंगे ।
Next Article तिरंगा-झंडा
Previous Article हे भारत के विद्यार्थियो !...
Print
9359 Rate this article:
3.7
Please login or register to post comments.
RSS
1345678910Last