मिथ्या संसार
Next Article गजब की याददाश्त
Previous Article गुरुपूर्णिमा पर्व : २७ जुलाई

मिथ्या संसार


अविश्वास और धोखे से भरा संसार, वास्तव में सदाचारी और सत्यनिष्ठ साधक का कुछ बिगाड़ नहीं सकता | 

-पूज्य संत श्री आशारामजी बापू 

📚जीवन-रसायन साहित्य से

Next Article गजब की याददाश्त
Previous Article गुरुपूर्णिमा पर्व : २७ जुलाई
Print
4514 Rate this article:
4.0
Please login or register to post comments.
RSS
124678910Last