Health and Yoga_2
Health and Yoga_2
Health and Yoga_1
Health and Yoga_1
कोनासन
Next Article पवनमुक्तासन
Previous Article धनुरासन

कोनासन

Conanson

इस आसन में शरीर का आकार कोन (कोण) के समान हो जाता है, इसलिए इसे ‘कोनासन' कहते हैं ।
🎗लाभ : 1. कफ की शिकायत दूर होती है ।
2. बौनापन दूर करने में मदद मिलती है ।
3. कमर तथा पसलियों का दर्द ठीक हो जाता है ।
4. स्वास्थ्य के साथ-साथ सौंदर्य भी बढता है ।

🎗विधि : 1. दोनों पैरों को डेढ-दो फुट के अंतर पर रखते हुए सीधे खडे हो जायें । अब दायें हाथ को नीचे दायें पैर के पंजे पर रखते हुए बायें हाथ को ऊपर ले जायें । दृष्टि ऊपर हाथ की ओर हो । इस स्थिति में 5-6 सेकंड रहें ।                                                                                                                 2. मूल स्थिति में आकर इसी क्रिया को पुनः दूसरी ओर से करना चाहिए । ध्यान रहे कि कमर का हिस्सा यथासम्भव स्थिर रहे । इसे 4-6 बार करें ।

🚫सावधानी : कुछ लोग इस आसन को जल्दी-जल्दी करने का प्रयत्न करते हैं और बार-बार करते हैं । उसमें विशेष लाभ नहीं है । इसलिए इसे धीरे-धीरे करें ।

📚बाल संस्कार पाठ्यक्रम (जनवरी प्रथम सप्ताह)
Next Article पवनमुक्तासन
Previous Article धनुरासन
Print
208 Rate this article:
4.0

Please login or register to post comments.

Name:
Email:
Subject:
Message:
x