Health and Yoga_2
Health and Yoga_2
Health and Yoga_1
Health and Yoga_1
पृथ्वी का अमृत - गाय का दूध

पृथ्वी का अमृत - गाय का दूध

यदि आप चाहते हैं कि आपका शरीर सुंदर एवं सुगठित हो, वजन एवं कद में खूब वृद्धि हो, आप मेधावी और प्रचंड बुद्धिशक्तिवाले व विद्वान बनें तो नियमित रूप से देशी गाय के दूध, घी, मक्खन का सेवन करें। 

दूध को खूब फेंटकर झाग पैदा करके धीरे-धीरे  पीना चाहिए। इसका झाग त्रिदोषनाशक, बलवर्धक, तृप्तिकारक व हलका होता है। ये विशेषताएँ केवल देशी गाय के दूध में ही होती हैं। जर्सी गाय, भैंस अथवा बकरी आदि के दूध से उपरोक्त लाभ नहीं होते।

सावधानी : दूध को खूब उबाल उबालकर गाढ़ा करके पीना हानिकारक है।

लोक कल्याण सेतु / मई २०१४
Print
1012 Rate this article:
2.0
Please login or register to post comments.