तुलसी पूजन की शास्त्रों में महिमा
Next Article तुलसी एक, लाभ अनेक
Previous Article तुलसी पूजन दिवस क्यों

तुलसी पूजन की शास्त्रों में महिमा

अनेक व्रतकथाओं, धर्मकथाओं, पुराणों में तुलसी महिमा के अनेकों आख्यान हैं । भगवान विष्णु या श्रीकृष्ण की कोई भी पूजा-विधि ‘तुलसी दल' के बिना परिपूर्ण नहीं मानी जाती । 

‘स्कंद पुराण' के अनुसार ‘जिसके घर में तुलसी की लक‹डी अथवा तुलसी का हरा या सूखा पत्ता होता है, उसके घर में कलियुग का पाप नहीं फैलता ।'

‘पद्म पुराण' में आता है कि ‘कलियुग में तुलसी का पूजन, कीर्तन, ध्यान, रोपण और धारण करने से वह पाप को जलाती और स्वर्ग एवं मोक्ष प्रदान करती है । संसारभर के फूलों और पत्तों से जितने भी पदार्थ या दवाइयाँ बनती हैं, उनसे जितना आरोग्य मिलता है, उतना ही आरोग्य तुलसी के आधे पत्ते से मिल जाता है ।'


Next Article तुलसी एक, लाभ अनेक
Previous Article तुलसी पूजन दिवस क्यों
Print
8891 Rate this article:
4.2
Please login or register to post comments.
RSS
123