सुख-शांति, समृद्धि व आरोग्य प्रदायिनी तुलसी
Next Article अकल बडी कि भैंस ?
Previous Article कैसे मनायें ‘तुलसी-पूजन दिवस

सुख-शांति, समृद्धि व आरोग्य प्रदायिनी तुलसी

तुलसी का स्थान भारतीय संस्कृति में पवित्र और महत्त्वपूर्ण है तुलसी को माता कहा गया है यह माँ के समान सभी प्रकार से हमारा रक्षण व पोषण करती है । देश में सुख, सौहार्द, स्वास्थ्य, शांति से जन- समाज का जीवन मंगलमय हो इस लोकहितकारी उद्देश्य से प्राणिमात्र के हितqचतक पूज्य बापूजी की पावन प्रेरणा से २५ दिसम्बर को पूरे देश में ‘तुलसी पूजन दिवस मनाना प्रारम्भ किया जा रहा है । तुलसी पूजन से बुद्धिबल, मनोबल, चारित्र्यबल व आरोग्यबल बढेगा । ‘स्कंद पुराण के अनुसार ‘जिस घर में तुलसी का बगीचा होता है अथवा प्रतिदिन पूजन होता है उसमें यमदूत प्रवेश नहीं करते । ‘गरुड पुराण के अनुसार ‘तुलसी का वृक्ष लगाने, पालन करने, सींचने तथा ध्यान, स्पर्श और गुणगान करने से मनुष्यों के पूर्व जन्मार्जित पाप जलकर विनष्ट हो जाते हैं । (गरुड पुराण, धर्म कांड-प्रेतकल्प : ३८.११)
Next Article अकल बडी कि भैंस ?
Previous Article कैसे मनायें ‘तुलसी-पूजन दिवस
Print
2826 Rate this article:
3.0

Please login or register to post comments.

Name:
Email:
Subject:
Message:
x
RSS
12