शिक्षाप्रद कहानियाँ सुनानी चाहिए

शिक्षाप्रद कहानियाँ सुनानी चाहिए

बालकों को अच्छी-अच्छी शिक्षाप्रद कहानियाँ सुनानी चाहिए । बालकों को 'श्रीमद्भागवत' में वर्णित भक्त ध्रुव की कथा व दासीपुत्र नारद के पूर्वजन्म की कथा और प्रह्लाद की कथा अपने साथी-मित्रों के साथ सुनने व सुनाने से परमात्मप्राप्ति में मदद मिलती है । सा विद्या या विमुक्तये । 'असली विद्या वही है जो मुक्ति प्रदान करे।' अपनी पढाई को छुट्टी के दौरान एकदम छोडना नहीं चाहिए। रोज थोडा-थोडा अध्ययन करते ही रहना चाहिए । अपने से छोटी कक्षावाले विद्यार्थियों को पढाना चाहिए । अपने से अधिक योग्यता व शिक्षावाले विद्यार्थियों के साथ रहकर विनोद व शिक्षा सम्बन्धी चर्चा करनी चाहिए ।
Next Article विद्यार्थी छुट्टियाँ कैसे मनायें
Previous Article कर सेवा, मिले मेवा
Print
5891 Rate this article:
No rating
Please login or register to post comments.